ब्रेकिंग

गोंडा पुलिस को नहीं कर पाया गुमराह, तो फौजी ने वायरल की वीडियो

गोंडा पुलिस को नहीं कर पाया गुमराह, तो फौजी ने वायरल की वीडियो

By : Binod Jha
Aug 22, 2019
941

हर हिंदुस्तानी को अपने देश के सैनिक पर गर्व होता है और हर कोई उनके हित और भलाई की बात करता है लेकिन इसी देश के जब एक सैनिक पर अपने गांव में 70 वर्ष की बूढ़ी औरत को मारने पीटने का आरोप लगे और उस फौजी द्वारा गांव के ही लोगों को परेशान करने का मामला आपके सामने आये  तो आप उसके बारे में क्या सोचेंगे

 एक ऐसा ही मामला प्रकाश में आया जहां पीड़ित फौजी व उसके परिवार वालों से तंग कर मीडिया को अपनी सच्चाई बताई। आपको बता दे कि यूपी के गोंडा जिले में एक फौजी व उसके परिवार द्वारा झूठे मुकदमे की रची हुई साजिश जब नाकाम हो गई तो उसने सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल कर दिया। जिसमें फौजी ने कहा है कि उसके साथ अन्याय किया जा रहा है और प्रशासन उसकी कोई मदद नहीं कर रहा है। 

गोंडा पुलिस को नहीं कर पाया गुमराह, तो फौजी ने वायरल की वीडियो

जबकि हकीकत कुछ और है पीड़ित पक्ष के श्रवण सिंह अरविंद सिंह के साथ दर्जनों लोगों ने गोंडा में पत्रकारों को यह जानकारी दी कि गांव के जसवंतसिंह सिंह उनके बेटे सुधीर सिंह रणधीर सिंह शुभम सिंह उर्फ लकी ने बीते 13 जुलाई को मेरे साथ मारपीट की जिसकी शिकायत मैंने थाना उमरी बेगमगंज में किया था।  पुलिस ने कार्यवाही करते हुए इस मामले में आईपीसी की धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर लिया।  उसके बाद फौजी ने मुझे झूठे मुकदमे में फंसाने के लिए अपने ही पैर पर  फायरिंग की और पुलिस को फोन किया लेकिन पुलिस ने जब इस मामले की सच्चाई को जाना तो झूठा मामला पाकर उन्होंने कोई कार्रवाई करने से मना कर दिया। 

उसके बाद चलाया गया एक और शातिर चाल, जिसपर आजकल देश के जनता की नजर टिकी हुई है।  वह है किसी भी फौजियों का विडिओ वायरल आसानी से हो जाता है सोसल नेटवर्किंग के माध्यम से। आरोपी जसवंत व उसके परिवार वालों ने इसका भरपूर लाभ लेने के लिए अपने फौजी भाई से सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल करवाया। और उसमें न्याय की गुहार लगाई। ताकि आम जनता की सहानुभूति भी इन्हें मिले और इनके साथ खडे होगे।

गोंडा पुलिस को नहीं कर पाया गुमराह, तो फौजी ने वायरल की वीडियो

और ऐसे में पुलिस प्रशासन दबाव में आकर इस झूठे  षड्यंत्र में फौजी का साथ देगा लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ, पुलिस ने सिर्फ सच पर यकीन किया।

पीड़ित सरवन सिंह ने बताया कि इन लोगों से पूरा गांव परेशान आए दिन इसी तरीके की साजिश रच कर लोगों पर झूठे मुकदमे लगवाने का खेल यह लोग खेलते रहते हैं। 
उन्होंने कहा कि गांव के लोगों की कई जमीनों पर इन लोगों ने अवैध रूप से कब्जा भी कर रखा है। आगे पीड़ित सरवन सिंह ने कहा कि इसका  भाई शुभम सिंह लकी समाजवादी पार्टी के नेताओं के साथ अच्छी सांठगांठ है। वह अपने नेतागिरी के दम पर आए दिन लोगों को परेशान करता रहता है। आपको बता दें इस मामले की शुरुआत रास्ते को लेकर हुई थी जो तूल पकडता ही चला गया।  

गोंडा पुलिस को नहीं कर पाया गुमराह, तो फौजी ने वायरल की वीडियो

 ऐसे में सवाल यह  है कि गोंडा पुलिस प्रशासन सिर्फ फौजी परिवार के साथ ही न्याय क्यों नहीं कर रहा है

 जिस मामले को लेकर जसवंत व उसके परिवार ने प्रशासन पर दबाव बनाया था। 
 दरअसल कहीं ना कहीं उस मामले की सच्चाई गोंडा पुलिस प्रशासन को कोई भी कार्यवाही ना करने के लिए मजबूर कर रही थी। 

 क्योंकि जसवंत सिंह व उसके परिवार के द्वारा रची हुई इस साजिश में पुलिस ने पहले ही सच और झूठ का पता कर लिया था। झूठी साजिश में जब फौजी व उसका परिवार हुआ नाकाम तो सोशल मीडिया पर वीडियो बनाकर किया वायरल। सोशल मीडिया पर फौजी ने पुलिस प्रशासन द्वारा कार्रवाई न करने का लगाया आरोप।
यूपी के गोंडा जिले का पूरा मामला:

 थाना उमरी बेगम  गंज के बखरिहा गांव में रहता है आरोपी फौजी का परिवार। पीड़ित श्रवण व अरविंद सिंह ने पूरे मामले की सच्चाई मीडिया को बताई, फौजी के परिवार ने फायरिंग करके झूठे मुकदमे में फंसाने की रची थी साजिश। पुलिस ने मामले की गहनता से पड़ताल की तो पता चला की फ़ौजी ने बदले की भावना से पीड़ितों पर पुलिसिया दबाव बनाने व कानूनी शिकंजे में पीड़ितों के परिजनों को फ़साने की रची थी साजिश।  मामले की सच्चाई पता लगने पर नहीं हुई पीड़ितों पर  कोई कानूनी कार्रवाई।पीड़ित श्रवण व अरविंद से बदला लेने के लिए फौजी व उसके परिवार ने रची थी झूठी साजिश।

बखरिहा गांव के जसवंत सिंह सुधीर सिंह रणधीर सिंह शुभम सिंह उर्फ लक्की पर पीड़ित ने लगाया है झूठी साजिश रचने का आरोप। पीड़ित के मुताबिक फौजी व उसके परिवार से पूरा गांव है परेशान नेतागिरी और सेनाकर्मी के बल पर गांव वालों को करते हैं परेशान।



Tags:
leave a comment