ब्रेकिंग

भारतीय पैनोरमा फिल्म उत्सव 4 जनवरी से नई दिल्ली में

भारतीय पैनोरमा फिल्म उत्सव 4 जनवरी से नई दिल्ली में

By : Binod Jha
Jan 04, 2019
360

भारतीय पैनोरमा फिल्म उत्सव का आयोजन 4 से 13 जनवरी 2019 तक किया जाएगा। 10 दिन चलने वाले इस उत्सव को नई दिल्ली के सिरीफोर्ट ऑडिटोरियम-II में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय का फिल्म उत्सव निदेशालय आयोजित कर रहा है।

फिल्म उत्सव का उद्घाटन सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के सचिव श्री अमित खरे 4 जनवरी 2019 को सायं साढ़े 5 बजे करेंगे। उत्सव की शुरूआत में फीचर फिल्म ‘ओलू’ और गैर-फीचर फिल्म ‘खरवास’ दिखाई जाएगी। इस अवसर पर दोनों फिल्मों के निर्देशक श्री शाजी एन. करुण और श्री आदित्य सुहास जंभाले उपस्थित रहेंगे।

उत्सव में लिजो जोस पेल्लीसेरी द्वारा निर्देशित फिल्म ‘ई मा योवे’ भी दिखाई जाएगी। उल्लेखनीय है कि भारत अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव-2018 में श्री पेल्लीसेरी को सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का पुरस्कार प्रदान किया गया था।

49वें भारत अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में भारतीय पैनोरमा वर्ग में चुनी जाने वाली सभी फिल्मों को इस उत्सव के दौरान प्रदर्शित किया जाएगा। कुल 26 फीचर फिल्में और 21 गैर-फीचर फिल्में इस दौरान दिखायी जाएंगी, जिनका विवरण इस प्रकार है-

तिथि/

समय

11:00 पूर्वाह्न

2.30 अपराह्न

5.30 अपराह्न

5/1/19

पद्मावत (यूए)

निर्देशक संजय लीला भंसाली

हिंदी / 165 मिनट

 

*पैम्फलेट (यूसी)

निर्देशक: शेखर बापू रणखंबे मराठी/ 29 मिनट

 

पूमारम

निर्देशक: अब्रिड शाइने मलयालम/ 106 मिनट

*आई शपथ (यूसी)

निर्देशक: गौतम वाजे

मराठी/ 14 मिनट

 

वॉकिंग विथ द विंड

निर्देशक: प्रवीण मोरछले

लद्दाखी/ 79 मिनट

6/1/19

* मॉनिटर (यूसी)

निर्देशक: हरि विश्वनाथ

हिंदी / 20 मिनट

 

राज़ी (यूए)

निर्देशक: मेघना गुलजार

हिंदी/ 140 मिनट

*बर्निंग (यूसी)

निर्देशक: सनोज वीएस

हिंदी/ 17 मिनट

 

 

मक्काना (यूसी)

निर्देशक: रहीम खादर

मलयालम/ 114 मिनट

 

*ना बोले वो हराम(यूसी)

निर्देशक: नितेश विवेक पटनकर

मराठी/ 20 मिनट

 

टू लेट

निर्देशक: चेजियान रा

तमिल/ 99 मिनट

7/1/19

*नाना तेरी मोरनी

निर्देशक: आकाशादित्य लामा

नगा/ 41 मिनट

 

अक्टूबर

निर्देशक: शूजित सरकार

हिंदी/ 115 मिनट

 

पारीयेरूम पेरूमल बीए.बीएल

निर्देशक: मरी सेल्वाराज

तमिल/ 154 मिनट

 

*मलाई

निर्देशक: राजदीप पॉलएवं शर्मिष्ठा मैती

उड़िया/ 15 मिनट

 

भयानकम

निर्देशक: जयराज

मलयालम/ 123 मिनट

 

8/1/19

*भर दुपहरी (यूए)

निर्देशक: स्वपनिल वंसत कापुरे

मराठी/ 15 मिनट

 

आमही दोघी

निर्देशक: प्रतिमा जोशी

मराठी/ 140 मिनट

 

*साइलेंट स्क्रीम (यूए)

निर्देशक: प्रसन्ना पोंडे

मराठी/ 29 मिनट

 

सिंजर

निर्देशक: पम्पल्ली

जसारी/ 114 मिनट

 

*ग्यामो-क्वीन ऑफ दी माउंटेन्स (यूसी)

निर्देशक: गौतम पांडेय एवं दोयल त्रिवेदी

अंग्रेजी/ 42 मिनट

 

बारम (यूसी)

निर्देशक: प्रिया कृष्णस्वामी

तमिल/ 92 मिनट

9/1/19

*सोर्ड ऑफ लिबर्टी

निर्देशक: शाइनी जैकब बेंजामिन

मलयालम/ 54 मिनट

 

बंकरदि लास्ट ऑफ दी वाराणसीवीवर्स (यूसी)

निर्देशक:सत्यप्रकाश उपाध्याय

अंग्रेजी/ 68 मिनट

*डीकोडिंग शंकर

निर्देशक: दीप्ति सिवन

अंग्रेजी/ 58 मिनट

 

पद्दाई ()

निर्देशक:अभय सिम्हा

तुलू/ 100 मिनट

*दी वर्ल्ड्स (यूए)

निर्देशक: एस नल्ला मुथू

अंग्रेजी/ 44 मिनट

 

उरोनचंडी

निर्देशक: अभिषेक साहा

बंगला/ 100 मिनट

 

10/1/19

नाच भिखारी नाच

निर्देशक: जैनेन्द्र दोस्त एवं शिल्पी गुलाटी

भोजपुरी/ 72 मिनट

 

भोर (यूसी)

निर्देशक: कामाख्या नारायण सिंह

हिंदी/ 91 मिनट

सूडानी फ्रॉम नाइजीरिया

निर्देशक: जकरिया

मलयालम/ 120 मिनट

 

*यस, आई एम मौली(यूसी)

निर्देशक: सुहास जहांगीरदार

मराठी/ 38 मिनट

 

नगरकीर्तन ()

निर्देशक: कौशिक गांगुली

बंगला/ 115 मिनट

 

11/1/19

*मिटनाइट रन (यूसी)

निर्देशक: रम्या राज

मलयालम/ 14 मिनट

 

पेरांबू (यूए)

निर्देशक: राम

तमिल/ 148 मिनट

*सम्पूरक (यूसी)

निर्देशक: प्रबाल चक्रबर्ती

बांगला/ 15 मिनट

 

एसए (यूसी)

निर्देशक: अरिजित सिंह

बांगला/ 109 मिनट

 

लास्यम (यूसी)

निर्देशक: विनोद मनकारा

मलयालम/ 47 मिनट

 

धप्पा (यूए)

निर्देशक: निपुन अविनाश धर्माधिकारी

मराठी/ 115 मिनट

12/1/19

*हैप्पी बर्थडे

निर्देशक: मेधप्रणव बाबासाहेब पोवार

मराठी/ 13 मिनट

 

ई मा योवे

निर्देशक: लिजो जोस पल्लीसेरी

मलयालम/ 120 मिनट

अब्याक्तो (यूसी)

निर्देशक: अर्जुन दत्ता

बांगला/ 86 मिनट

 

महानती

निर्देशक: नागाश्विन

तेलुगू/ 176 मिनट

13/1/19

उमा (यूए)

निर्देशक: श्रीजित मुखर्जी

बांगला/ 148 मिनट

टाइगर जिंदा है (यूए)

निर्देशक: अली अब्बास जफर

हिंदी/ 161 मिनट

 

 

तारांकित फिल्में गैर-फीचर फिल्में हैं। सभी फिल्मों में अंग्रेजी में उप-शीर्षक मौजूद रहेंगे। उत्सव में प्रवेश निशुल्क है। बैठने की व्यवस्था पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर होगी।



Tags:
leave a comment