ब्रेकिंग

मोदी सरकार जुटी है बेसहारों को आशियाने देने में

मोदी सरकार जुटी है बेसहारों को आशियाने देने में

By : Binod Jha
Jan 10, 2019
70

 सोलापुर, महाराष्‍ट्र में सड़क संपर्क, गरीब के लिए घर, जल आपूर्ति तथा सीवरेज प्रणाली को दुरुस्त करवाने की कवायद हुई तेज। दरअसल प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी कल महाराष्‍ट्र में सोलापुर जायेंगे। प्रधानमंत्री विभिन्‍न विकास परियोजनाएं लांच करेंगे और विभिन्‍न परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे।

सड़क परिवहन तथा संपर्क को प्रोत्‍साहन देते हुए सरकार 4 लेन का सोलापुर-तुलजापुर-उस्‍मानाबाद एनएच-211 (नया एनएच-52) राष्‍ट्र को समर्पित करेंगे। और इस 4 लेन के उस्‍मानाबाद राजमार्ग से सोलापुर का महाराष्‍ट्र के मराठवाड़ा क्षेत्र से संपर्क सुधर जायेगा। प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत 30,000 मकान बनाने के लिए आधारशिला रखेंगे। इन घरों में  कचरा उठाने वाले, रिक्‍शा चालक, कपड़ा मजदूर, बीडी मजदूर, जैसे गरीब बेघर लोग मुख्‍य रूप से लाभान्वित होंगे। परियोजना की कुल लागत 1811.33 करोड़ रूपये है, जिसमें से कुल 750 करोड़ रूपये सहायता रूप में केन्‍द्र और राज्‍य सरकार द्वारा दिये जायेंगे।

प्रधानमंत्री स्‍वच्‍छ भारत के अपने मिशन को आगे बढ़ाते हुए सोलापुर में भूमिगत सीवरेज प्रणाली तथा 3 गंदा जल शोधन संयंत्र राष्‍ट्र को समर्पित करेंगे। इससे शहर का सीवरेज कवरेज बढेगा और शहर की स्‍वच्‍छता में सुधार होगा। नई सीवरेज प्रणाली पुरानी प्रणाली का स्‍थान लेगी और अमृत मिशन के अंतर्गत लागू किये जा रहे ट्रंक सीवर से भी जुड़ेगी।
 

मोदी सरकार जुटी है बेसहारों को आशियाने देने में

प्रधानमंत्री सोलापुर स्‍मार्ट सि‍टी में क्षेत्र आधारित विकास के अंग के रूप में जल सप्‍लाई तथा सीवरेज प्रणाली की संयुक्‍त सुधार परियोजना, उजनी बांध से सोलापुर शहर को पेय जल की सप्‍लाई व्‍यवस्‍था मजबूत बनाने तथा अमृत मिशन के अंतर्गत भूमिगत सीवरेज प्रणाली की आधारशिला भी रखेंगे। स्‍मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत परियोजना की स्‍वीकृत लागत 244 करोड़ रूपये है। इस परियोजना से सेवा डिलिवरी में महत्‍वपूर्ण सुधार होगा और टेक्‍नॉलोजी सक्षम स्‍वास्‍थ्‍य में सुधार होगा।

 शहर में एक जन सभा को भी संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री की सोलापुर की यह दूसरी यात्रा होगी। इससे पहले 16 अगस्‍त, 2014 को सोलापुर आगमन पर उन्‍होंने 4 लेन के एनएच-9 के सोलापुर-महाराष्‍ट्र/कर्नाटक सीमा सेक्‍शन के लिए आधारशिला रखी थी और 765 किलोवाट की सोलापुर-रायचुर विद्युत संप्रेषण लाईन देश को समर्पित किया था।



Tags:
leave a comment